Facts to know about Ram Mandir on 22 January

Facts to know about Ram Mandir on 22 January

Facts to know about Ram Man

जैसा कि आप जानते हैं राम मंदिर एक महत्वपूर्ण हिंदू मंदिर है जो राम मंदिर का निर्माण पूरी तरह से भारत की पारंपरिक और स्वदेशी तकनीक का उपयोग करके किया जा रहा है। हालांकि, इसका निर्माण पर्यावरण-जल संरक्षण पर विशेष जोर देते हुए किया जा रहा है।

ये भारत के उत्तर प्रदेश के अयोध्या में निर्माणाधीन है। यह मंदिर उस स्थान पर स्थित है जिसे हिंदू धर्म के प्रमुख देवता राम का जन्मस्थान माना जाता है। राम मंदिर का भव्य उद्घाटन 22 जनवरी, 2024 को होने जा रहा इस दिन को पर्व की तरह मनाने के लिए सभी तरह के इंतजाम किए गए हैं साथ ही 15 जनवरी से मंदिर में पूजा-पाठ और अनुष्ठान जैसे कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

अनुमान यह है की 2024 के लिए राम मंदिर अयोध्या का बजट लग्भग 18,000 करोड़ रुपये है, देशभर से नागरिकों ने 10 रुपये से लेकर कई लाख रुपये तक का दान दिया 2019 में अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ही यह तय हो गया था कि विवादित जमीन राम मंदिर निर्माण के लिए भारत सरकार द्वारा गठित ट्रस्ट को सौंपी जाएगी। अंततः श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के नाम से ट्रस्ट का गठन किया गया

राम मंदिर का मूल डिज़ाइन 1988 में अहमदाबाद (गुजरात) के सोमपुरा परिवार द्वारा तैयार किया गया था। सोमपुरा ने कम से कम 15 पीढ़ियों से मंदिरों के डिजाइन में योगदान दिया है, जिसमें सोमनाथ मंदिर भी शामिल है। मंदिर के मुख्य वास्तुकार चंद्रकांत सोमपुरा थे, उनकी सहायता उनके दो बेटे, निखिल सोमपुरा और आशीष सोमपुरा ने की, जो वास्तुकार भी हैं।

राम मंदिर की खास बातें

रामलला की मूर्ति को कर्नाटक के प्रसिद्ध मूर्तिकार अरुण योगीराज ने बनाया है। यह मूर्ति पांच साल के बालस्वरूप में है

अयोध्या में बन रहे इस भव्य मंदिर की लंबाई 380 फीट, चौड़ाई 250 फीट और ऊंचाई 161 फीट है. यह मंदिर तीन मंजिला होगा और हर एक मंजिल की ऊंचाई 20 फीट होगी. इसमें कुल 392 खंभे और 44 द्वार होंगे. प्रभु श्रीराम का बालरूप मुख्य गर्भगृह में होगा जबकि प्रथम तल पर श्रीराम दरबार होगा.

ऐसे में सभी के मन में मंदिर और कार्यक्रम को लेकर बहुत से सवाल हैं जैसे, मंदिर में आरती का समय क्या होगा? मंदिर का द्वार कैसा होगा? इत्यादि। आइए इन सभी सवालों के जवाबों को विस्तार से जान लेते हैं।

Facts to know about Ram Mandir on 22 January

मंदिर में आरती का समय क्या है ?

अयोध्या राम मंदिर में आरती तीन टाइम की जाएगी, जिसका समय सुबह 6:30 बजे, दोपहर 12:00 बजे और शाम 7:30 बजे होगा।

रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का समय क्या होगा ?
रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 84 सेकंड का शुभ मुहूर्त निकाला गया है। ये समय 22 जनवरी 2024 को 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक होगा।

मंदिर की लंबाई चौड़ाई क्या है ?
मंदिर की लंबाई (पूर्व से पश्चिम) 380 फीट, चौड़ाई 250 फीट और ऊंचाई 161 फीट है। यह मंदिर तीन मंजिला है, जिसकी प्रत्येक मंजिल 20 फीट ऊंची है। इसमें कुल 392 खंभे और 44 दरवाजे हैं।

मंदिर का प्रवेश द्वार कैसा है ?
राम मंदिर में प्रवेश पूर्व दिशा की ओर है, सिंह द्वार से 32 सीढ़ियां चढ़कर प्रवेश होगा।

रामलला की मूर्ति का सूर्य तिलक कब होगा?
रामलला की मूर्ति का सूर्य तिलक रामनवमी के दिन दोपहर 12 बजे सूर्य का प्रकाश जब रामलला के माथे पर पड़ेगा, उसे ही सूर्य तिलक कहा जाएगा।

रामलला की पुरानी मूर्ति का क्या होगा?
पुरानी मूर्ति जो फिलहाल छोटे मंदिर में स्थापित है, उसकी भी नई मूर्ति के साथ गर्भगृह में प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी।

राम मंदिर परिसर के चारों कोनों में क्या होगा ?
राम मंदिर परिसर के चारों कोनों पर चार मंदिर होंगे, जिनमें सूर्य देव, देवी भगवती, गणेश भगवान और भगवान शिव को समर्पित होंगे। उत्तरी भुजा में मां अन्नपूर्णा का मंदिर, जबकि दक्षिणी भुजा में हनुमान जी का मंदिर है।

राम मंदिर में व्यवस्था कैसी है ?
दिव्यांगों और बुजुर्गों की सुविधा के लिए रैंप और लिफ्ट की व्यवस्था होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x